जिसको याद कहते हैं…

उसको याद करने में सिर्फ़ एक ख़तरा है, फिर से याद आएगी फिर से दिल दुखाएगी फिर से वो सभी मंज़र,आँख से छलक जाएँ, फिर से बेख़यालाना,हम कहीं भटक जाएँ, ये भी कोई अच्छा है? दिल मगर हाँ! सच्चा है, दिल जो हमसे कहता है, याद तो करो लेकिन रात के अंधेरे में, जब कोई…

Read More

“हनुमान जयंती”

लक्ष्मण को शक्ति लगने के बाद जब महावीर हनुमान संजीवनी बूँटी लेने जाते हैं, तो रास्ते में सूर्य से बात करते हुए जाते हैं ।उनसे विनती करते हैं कि- हे सूरज इतना याद रहे, संकट एक सूरजवंश पर है। लंका के नीच राहू द्वारा आघात दिनेश अंश पर है।। (और विनम्र होके कहते हैं….) इसलिए…

Read More

Saving gives Peace and Shopping gives Happiness

Saving” a word often used by our elders as a teaching.It has various dimensions, one dimension could be it gives a back up and the other inner satisfaction but the fact whenever we talk about shopping  it automatically brings a smile on the face. Well this could be very debating for all of us..  The…

Read More