कहते है लड़की देश का मान है सम्मान है,
कुछ लड़कों की नज़रों में लड़की बनी समान है ,

सुना है हिन्दुस्तान में बलात्कार बड़ा ही आम है !

लड़कियों के शोषण में कैसा अभिमान है ??

ये सब करके क्या मिलेगा ऐसे ना कुकर्म करो ,

सारी दुनिया देख रही है अब तो तुम कुछ शर्म करो ,

कहीं कोई नीर्भया है होती, कोई होती फीर ज्योती है ,
इसके खिलाफ़ वो तर्क है देते जींस(jeans) ही उसकी छोटी है ,

क्या ऐसी नज़रें रखते हैं  माँ ,बेटी और नानी में ??
इस्से बेहतर डुब मरे वो चुल्लु भर सी पानी में …

सब बड़े लोगों को इनके छोटे कपड़े दिखते हैं ,
पैसों का बाजार यहाँ कौड़ियों के दाम बिकते हैं ,

सब खड़े नीर्भया को देखें किसी को ना कुछ दर्द हुआ ,
दिल्ली की जनता में बोलो क्या कोई फ़िर मर्द हुआ ,

क्या सारे नामर्द खड़े थे उतनी बड़ी अवामी में ?
इस्से बेहतर डुब मरे वो चुल्लू भर सी पानी में…

उस मुजरिम को क्यों छोड़ा जब काम ही उसकी खोटी थी ,
घर वाले उसके केह रहे थे उम्र ही उसकी छोटी थी ,
सैकत पुछता है सबसे जो कानून के  सच्चे वाले थे ,
जो काम किये उसने क्या वो काम बच्चे वाले थे ,

मेरी मनो फाँसी देदो उसको भरी जवानी में ,
इससे बेहतर डुब मरे वो चुल्लू भर सी पानी में..

Contributed By: Saikat Kumar Majhi


Comments

comments

One thought on “हिन्दुस्तान में बलात्कार बड़ा ही आम है !

Leave a Reply

Your email address will not be published.